Bigfinder

आँखों की थकान से ऐसे पायें मुक्ति

ankhon ki roshni post image

लगातार कंप्यूटर पर काम करना या स्क्रीन के संपर्क में रहना आपकी आंखों को थका सकता है। बढ़ते स्क्रीन टाइम के बीच आँखों की थकान को कैसे कम करें इस आर्टिकल में ये बताया जायेगा |

किसी भी प्रकार की आँखों की समस्या से जूझ रहे हैं तो अपने नजदीकी आँखों के डोक्टर से सम्पर्क करें|

ऑनलाइन पढ़ाई या ऑफिस के काम को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। सब कुछ ऑनलाइन हो रहा है, तो स्क्रीन टाइम बढ़ना तो तय है।

पर आंखों की सेहत को कैसे भूल सकते हैं? तो काम करते हुए अपनी पलकों को झपकाते रहे। अपने कंप्यूटर पर रिमाइंडर के रूप में ‘ब्लिक’ कहने वाला नोट भी चिपका दें। जो आपको हर तीन मिनट या पाँच मिनट के अन्तराल पर आपको याद दिलाता रहे की आँखों को विश्राम भी देना है|

एक तरीका यह भी है कि नियमित रूप से 20/20/20 नियम का अभ्यास करें (प्रत्येक 20 मिनट के बाद 20 सेकंड के लिए अपने सामने 20 फीट दूर देखना) या फिर हर आधे वा एक घंटे के अंतराल पर थोड़ा वॉक करें।

इससे भी आँखों को आराम मिलता है। मगर इस ब्रेक में किसी अन्य स्क्रीन जैसे टीवी और मोबाइल से भी दूर रहना है। मतलब जितना संभव हो स्क्रीन टाइम को कम करें।

इस प्रकार आप आपनी आँखों को सेहतमंद रख सकते हैं| नियमित रूप से अपनी आँखों का चैक अप योग्य चिकित्सक से करवाते रहें |

अपनी आँखों को सेहत मंद रखने के लिए अपने खानपान का भी ध्यान रखना होगा| नियमित रूप से आंवले का सेवन करें| गाजर भी फायदेमंद है आँखों के लिए |

विटामिन ए की प्रचूर मात्रा वाली चीजें खाने से आपकी आंख का स्वास्थ्य ठीक रहता है. इसके साथ ही आपको विटामिन सी, ई, कॉपर और जिंक आदि वाले खाने को भी अपनी आदत में शामिल करना चाहिए| आप गाजर, कद्दू, पत्ते वाली सब्जियां और शकरकंद आदि खा सकते हैं|

आंख में भी मांसपेशियां होती हैं और उन्हें ठीक रखने के लिए आप व्यायाम भी कर सकते हैं. अगर आप सुबह-सुबह या रात को सोते वक्त आंख से संबंधित व्यायाम करें तो इससे काफी बेहतर नतीजे निकलते हैं. आँखों का व्यायाम डॉक्टर की देखरेख में करें|

अगर आप रोजाना कम से कम 40 मिनट फुल बॉडी व्यायाम करते हैं तो इसका असर आपकी आंख पर भी पड़ता है. अगर आपके शरीर में खून का बहाव तेज होता है तो इससे आपकी आंख को फायदा होता है|

इससे आँख की मांसपेशियों में मौजूद/जमा हानिकारक तत्व बाहर निकलते हैं. यह ध्यान रखें कि इसके लिए शरीर पर अधिक जोर डालने वाला व्यायाम जरूरी नहीं है|

आपकी आंख के लिए कुछ देर का आराम काफी नहीं है. जिस तरह आपके शरीर को नियमित रूप से आराम की जरूरत होती है, उसी तरह आंख को भी आराम चाहिए|

जब आपके शरीर को पर्याप्त आराम मिल जाता है तो आपकी आंख भी नए सिरे से काम करने के लिए तैयार हो जाती है| लंबे कामकाजी अवधि के बीच में थोड़ा सा ब्रेक भी आपकी आंख के लिए जरूरी है|

पढ़ाई के वक्त कम वोल्टेज वाला बल्ब, फ्लोरोसेंट लाइट्स आदि कुछ ऐसी बातें हैं जो आपकी आंख को नुकसान पहुंचाती हैं. आपको अपने आस-पास इस तरह की चीजें नहीं रखनी चाहिए|

पढ़ते समय पर्याप्त रोशनी रखें ना कम ना ज्यादा |

यदि इन छोटी छोटी बातों का आप ध्यान रखेंगे तो आपकी आँखें स्वस्थ रहेंगी |

ध्यान रखें आँखों में रोशनी है तो जीवन रोशन है |

इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकी ज्यादा से ज्यादा लोग लाभ उठा सकें |

 

Exit mobile version